image_pdfimage_print
पाठ्यक्रम विश्लेषण

दीर्घावधि में किसान कृषि से स्वयं पलायन कर लेता है या फिर गैर-आर्थिक कारणों से कर लेता है !

निबंध -दीर्घावधि में किसान कृषि से स्वयं पलायन कर लेता है या फिर गैर-आर्थिक कारणों से कर लेता है !

पाठ्यक्रम विश्लेषण

IAS वैकल्पिक विषय पाठ्यक्रम-लोक प्रशासन

पेपर – I प्रशासनिक सिद्धांत परिचय: लोक प्रशासन का अर्थ, दायरा और महत्व; लोक प्रशासन की विल्सन की दृष्टि; अनुशासन का विकास और इसकी वर्तमान स्थिति; नया लोक प्रशासन; सार्वजनिक विकल्प दृष्टिकोण; उदारीकरण, निजीकरण, वैश्वीकरण की चुनौतियां; सुशासन: अवधारणा और अनुप्रयोग; नया सार्वजनिक प्रबंधन। प्रशासनिक विचार: वैज्ञानिक प्रबंधन और वैज्ञानिक प्रबंधन आंदोलन; शास्त्रीय सिद्धांत; वेबर के नौकरशाही […]

पाठ्यक्रम विश्लेषण

IAS वैकल्पिक विषय पाठ्यक्रम-समाजशास्त्र

प्रश्न-पत्र-I समाजशास्त्र के मूलभूत सिद्धांत   समाजशास्त्र: विद्याशाखा यूरोप में आधुनिकता एवं सामाजिक परिवर्तन तथा समाजशास्त्र का आविर्भाव समाजशास्त्र का विषय-क्षेत्र एवं अन्य सामाजिक विज्ञानों से इसकी तुलना समाजशास्त्र एवं सामान्य बोध   समाजशास्त्र विज्ञान के रूप में विज्ञान, वैज्ञानिक पद्धति एवं समीक्षा अनुसंधान क्रियाविधि के प्रमुख सैद्धांतिक तत्व प्रत्यक्षवाद एवं इसकी समीक्षा तथ्य, मूल्य […]

पाठ्यक्रम विश्लेषण

IAS वैकल्पिक विषय पाठ्यक्रम-दर्शनशास्त्र

प्रश्न पत्र-1 दर्शन का इतिहास एवं समस्याएँ प्लेटो एवं अरस्तूःप्रत्यय; द्रव्य; आकार एवं पुदगल; कार्यकारण भाव; वास्तविकता एवं शक्यता। तर्कबुद्धिवाद (देकार्त, स्पिनोजा, लीबनिज):देकार्त की पद्धति एवं असंदिग्ध ज्ञान; द्रव्य; परमात्मा; मन-शरीर द्वैतवाद; नियतत्ववाद एवं स्वातत्र्य। इंद्रियानुभव (लॉक, बर्कले, ह्यूम); ज्ञान का सिद्धांत; द्रव्य एवं गुण; आत्मा एवं परमात्मा; संशयवाद। कांटःसंश्लेषात्मक प्रागनुभविक निर्णय की संभवता; दिक […]

पाठ्यक्रम विश्लेषण

IAS वैकल्पिक विषय – हिंदी साहित्य

हिंदी साहित्य-प्रश्नपत्र-1 खंड : ‘क’ (हिन्दी भाषा और नागरी लिपि का इतिहास) अपभ्रंश, अवहट्ट और प्रारंभिक हिन्दी का व्याकरणिक तथा अनुप्रयुक्त स्वरूप। मध्यकाल में ब्रज और अवधी का साहित्यिक भाषा के रूप में विकास। सिद्ध एवं नाथ साहित्य, खुसरो, संत साहित्य, रहीम आदि कवियों और दक्खिनी हिन्दी में खड़ी बोली का प्रारंभिक स्वरूप। उन्नीसवीं शताब्दी […]

पाठ्यक्रम विश्लेषण

इतिहास (वैकल्पिक विषय)-आईएएस परीक्षा पाठ्यक्रम

इतिहास प्रश्नपत्र-1 स्रोतःपुरातात्विक स्रोतः अन्वेषण, उत्खनन, पुरालेखविद्या, मुद्राशास्त्र, स्मारक, साहित्य स्रोत। स्वदेशीः प्राथमिक व द्वितीयक; कविता, विज्ञान साहित्य, साहित्य, क्षेत्रीय भाषाओं का साहित्य, धार्मिक साहित्य। विदेशी वर्णन : यूनानी, चीनी एवं अरब लेखक 2. प्रागैतिहास एवं आद्य इतिहासःभौगोलिक कारक, शिकार एवं संग्रहण (पुरापाषाण एवं मध्यपाषाण युग); कृषि का आरंभ (नवपाषाण एवं ताम्रपाषाण युग)। 3. सिंधु […]

पाठ्यक्रम विश्लेषण

आईएएस परीक्षा पाठ्यक्रम -भूगोल (वैकल्पिक विषय)

आईएएस परीक्षा पाठ्यक्रम भूगोल (वैकल्पिक विषय) यह सिलेबस  सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के भूगोल वैकल्पिक विषय का है और इसमें 2 पेपर शामिल होते हैं। 500 अंकों के साथ प्रत्येक पेपर 250 अंकों का है। पेपर – I : भूगोल के सिद्धांत भौतिकी भूगोल: भू-आकृति विज्ञान: भूमि के विकास को नियंत्रित करने वाले कारक; एंडोजेनेटिक और […]

पाठ्यक्रम विश्लेषण

IAS परीक्षा में अवसरों की संख्या

                                                     अवसरों की संख्या  सिविल सेवा परीक्षा में बैठने वाले प्रत्येक उम्मीदवार को जो अन्यथा पात्र हों, 6 बार बैठने की अनुमति दी जाएगी। परन्तु अवसरों की संख्या से संबद्ध […]

पाठ्यक्रम विश्लेषण

IAS के लिए शैक्षिक योग्यता

IAS के लिए शैक्षिक योग्यता  उम्मीदवार के पास भारत के केन्द्र या राज्य विधानमंडल द्वारा निगमित किसी विश्वविद्यालय की या संसद के अधिनियम द्वारा स्थापित या विश्वविद्यालय अनुदान आयोग अधिनियम 1956 के खंड 3 के अधीन विश्वविद्यालय के रूप में मानी गई किसी अन्य शिक्षा संस्था की डिग्री अथवा समकक्ष योग्यता होनी चाहिए। टिप्पणी-I : […]